Tag Archives: dum

Sau rupaye ka Dum jo lun, Do sau gum ho udan Chhu


Hindi Lycisc from Dum Maro Dum

हे..!!
फिर देख रहा है
आज आँख सेक रहा है, कल हाथ सेकेगा
आज ढील छोड़ रहा है, कल खुद ही तोड़ेगा
आज मेरे लिए Chair खींच रहा है, कल मेरी स्किर्ट खींचेगा
खीचेगा की नहीं ? हम्म…?

अक्कड़ बक्कड़ बम्बे बो, अस्सी नब्बे पूरे सौ
सौ रुपये का दम जो लूँ, दो सौ गम हो उड़न छू

फिर क्यूँ मैं तू, कर रहे टे टू….

Aish Karo Yaara…
Happy Dum.

%d bloggers like this: