Category Archives: dialogue

Filimi Dialogue – Dhoom 3 – वाह ! क्या डायलाग है।


There are so many dialogue in movie but I like below 4.

The first one is best poem.

  • बंदे है हम उसके हम पर किसका जोर |
    उम्मीदो के सूरज, निकले चारो और ||
    इरादे है फौलादी, हिम्मती है कदम |||
    अपने हाथो किस्मत लिखने आज चले है हम ||||
  • होशियारी, तरकीब और धोका .. तीनो मिल जाए तो लोग उसे जादू समझते है |
  • असली जीत बदले कि नहीं, सपने कि होती है |
  • आये तो थे शराफत से लेकिन जायेंगे धूम मचा के |

Happy Dhoom.

Advertisements
%d bloggers like this: