Category Archives: translation

Sarveshwari Jagdishwari Bhajan – Hindi Lyrics


सर्वेश्वरी जगदीश्वरी -२ , हे मातृ रूप महेश्वरी ।
ममतामयी करुणामयी – २ , हे मातृ रूप महेश्वरी।

सर्वेश्वरी जगदीश्वरी -२ , हे मातृ रूप महेश्वरी।

जगजीवनी संजीवनी, समस्त जीवनेश्वरी। – २
हे मातृ रूप महेश्वरी।
सर्वेश्वरी जगदीश्वरी -२ , हे मातृ रूप महेश्वरी।

कृपालिनी जगतारिणी, प्रतिपल भुवन हृदयेश्वरी। -२
हे मातृ रूप महेश्वरी।
सर्वेश्वरी जगदीश्वरी -२ , हे मातृ रूप महेश्वरी।- २

तमहारीनी शुभकारणी, मनमोहिनी विश्वेश्वरी। – २
हे मातृ रूप महेश्वरी।
सर्वेश्वरी जगदीश्वरी -२ , हे मातृ रूप महेश्वरी।
ममतामयी करुणामयी – २ , हे मातृ रूप महेश्वरी।

सर्वेश्वरी जगदीश्वरी -२ , हे मातृ रूप महेश्वरी।

Jai Mata Di.

Advertisements

Filimi Dialogue – Dhoom 3 – वाह ! क्या डायलाग है।


There are so many dialogue in movie but I like below 4.

The first one is best poem.

  • बंदे है हम उसके हम पर किसका जोर |
    उम्मीदो के सूरज, निकले चारो और ||
    इरादे है फौलादी, हिम्मती है कदम |||
    अपने हाथो किस्मत लिखने आज चले है हम ||||
  • होशियारी, तरकीब और धोका .. तीनो मिल जाए तो लोग उसे जादू समझते है |
  • असली जीत बदले कि नहीं, सपने कि होती है |
  • आये तो थे शराफत से लेकिन जायेंगे धूम मचा के |

Happy Dhoom.

Sukhharta Dukhharta Hindi Meaning


Ganapatai Bappa Morya..

This year I chanted this aarti many times and this is in marathi. I learned it but I never knew the meaning of this aarti.
So I found the meaning of this aarti and edited it as per learning and observation.

Please suggest if any changes are required.

सुखकर्ता दुखहर्ता वार्ता विघ्नाची । नुरवी पुरवी प्रेम कृपा जयाची ।।
सार्वांगी सुन्दर उटि शेंदुराची । कंठी झळके माळ मुक्ताफळांची ||
जयदेव जयदेव जय मंगलमूर्ति । दर्शनमात्रे मनकामना पूर्ति ।। 1 ।।

भगवान् जो हमे सुख देते है और दुखो को दूर करते है. सभी मुश्किलों से मुक्त करते है. जो आशीर्वाद के रूप मैं हर जगह अपना प्यार फैलाते है. ||
जिनके शारीर पर सुन्दर लाल-नारंगी रंग है. और गले मैं अति-सुन्दर मोतियों ( मुक्ताफल ) की मारा पहनी हुई है. ||
भगवान् की इस मंगल मूर्ति से प्रार्थना करो. भगवान् के दर्शन मात्र से ही हमारी सारी इच्छाओ की पूर्ति हो जायेगी. ||१||

रत्नखचित फरा तुज गौरी कुमरा । चंदनाची उटि कुंकुमकेशरा ।।
हीरेजडित मुगुट शोभतो बरा । रुनझुनती नूपुरे चरनी घागरिया ।|
जयदेव जयदेव जय मंगलमूर्ति । दर्शनमात्रे मनकामना पूर्ति ।। 2 ।।

हे गौरी पुत्र, ये रत्नों से जडित मुकुट आपके लिए है, आपके शारीर पर चन्दन का लेप लगा हुआ है और मस्तक भाल पर पर लाल रंग का तिलक लगा हुआ है. ||
हीरो से जडित सुन्दर सा मुकुट है और आपके आपके चरणों के पास मैं पायल की ध्वनि बहुत अच्छी लग रही है. ||
भगवान् की इस मंगल मूर्ति से प्रार्थना करो. भगवान् के दर्शन मात्र से ही हमारी सारी इच्छाओ की पूर्ति हो जायेगी. || २ ||

लम्बोदर पिताम्बर फणिवर बंधना । सरळ तोंड वक्रतुंड त्रिनयना ।।
दास रामाचा वाट पाहे सदना । संकटी पावावे, निर्वाणी रक्षावे सुरवरवंदना ।।
जयदेव जयदेव जय मंगलमूर्ति ।। दर्शनमात्रे मनकामना पूर्ति ।। ३ ।।

भगवान् आपका बड़ा पेट है और आपने पीली धोती पहनी हुई है. आपके सरल और मुड़ी हुई सूंड है और आपके तीन आँखे है.
लेखक रामदास कहते है की मैं आपकी साधना मैं ये लिख रहा हु, मुश्किल के समय मैं सदेव हमारी रक्षा और सहायता करना.
भगवान् की इस मंगल मूर्ति से प्रार्थना करो. भगवान् के दर्शन मात्र से ही हमारी सारी इच्छाओ की पूर्ति हो जायेगी. || ३ ||

Happy Ganapati.

%d bloggers like this: